अपराध

मेडिकल कालेज दाखिला पर के नाम पर ठगी करने वाले आरोपी को गिरफ्तार

आशीष परिहार कांकेर- पुलिस अधीक्षक कांकेर एम.आर.आहिरे के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गोरखनाथ बघेल एवं अनुविभागीय अधिकारी पुलिस मयंक तिवारी के पर्यवेक्षण में विवेचना के दौरान थाना पखांजूर पुलिस द्वारा मेडिकल कालेज दाखिला पर के नाम पर पखांजूर के महिला से 3400000 रुपये की ठगी करने वाले आरोपी को गिरफ्तार करने में अति महत्वपूर्ण सफलता प्राप्त हुई है। मामले का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार है कि प्रार्थीया शिखा दास जो कि कापसी स्कूल में शिक्षिका हैं ने थाना पखांजूर में अपराध दर्ज कराया था कि वर्ष 2018 में प्रार्थिया का फोन पर संपर्क मेडिकल काउंसलर से हुआ था जिसने अपने को मेडिकल काउंसलर तथा मंत्रालय में पहुंच बता कर पीड़िता के 02 बच्चों को मैनेजमेंट सेन्ट्रल पुल कोटा में बेंगलुरु मेडिकल कॉलेज में दाखिला दिलाने के का आश्वासन देकर 3400000 रुपए की ठगी कर ली है प्रार्थीया की रिपोर्ट पर थाना पखांजूर में अज्ञात आरोपियों के विरुद्ध अपराध क्रमांक 02/20 धारा 419,420 भादवि 66 (D) आईटी एक्ट पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया था विवेचना में घटना में संलिप्त आरोपी दीपक चटर्जी पिता स्व विश्वनाथ चटर्जी उम्र 50 वर्ष निवासी दिल्ली , प्रभुदीप सिंह उर्फ अरविंद गंगवार पिता ब्रजपाल सिंह उम्र 34 वर्ष निवासी बरेली ,जियाउल हक रहमानी पिता डा ए आर रहमानी उम्र 32 वर्ष निवासी गाजियाबाद को प्रोडक्शन वारंट पर हाजिर कर दिनांक 11/01/21 को गिरफ्तार किया गया तीनो आरोपियों ने देशभर में कई राज्यों में मेडिकल एवं इंजीनियरिंग कालेज में एडमिशन कराने का झांसा देकर लाखों रुपये की ठगी करना स्वीकार किये है आरोपियों में से दीपक चटर्जी निवासी दिल्ली अपने को शैक्षणिक सलाहकार बताया तथा पूछताछ के दौरान बताया है कि वह 2008 से इस प्रकार के कृत्य में संलिप्त रहा है 2013 में जेल भी जा चुका है ,तथा आरोपी जियाउल हक रहमानी एमबीबीएस डॉक्टर है रूस से एमबीबीएस की डिग्री प्राप्त किया है, तथा आरोपी प्रभु दीप सिंह इलेक्ट्रिकल इंजीनियर है सभी आरोपी हाईप्रोफाइल लोगों को मैनेजमेंट कोटा पर मेडिकल एवं इंजीनियरिंग कॉलेज में दाखिला के नाम पर धोखाधड़ी कर लाखों रुपए की लाखों रुपए के ठगी की करना स्वीकार किए हैं आरोपी ने प्रार्थी के दोनो बच्चे नीट की तैयारी कर रहे थे आरोपी द्वारा किसी प्रकार से उनका संपर्क नंबर ज्ञात कर प्रार्थिया से संपर्क किया और दोनों बच्चों को बेंगलुरु मेडिकल कॉलेज में दाखिला दिलाने का झांसा दिया आरोपीगण प्रार्थिया से वीडियो कॉल पर बात करते थे और अपने को मिनिस्ट्री के संपर्क में होने का दावा कर सेंट्रल पूल कोटा से प्रार्थीया की दोनों बच्चों का मेडिकल कॉलेज में दाखिला कराने की बात बोल कर जून 2019 से सितंबर 2019 के दौरान विभिन्न माध्यम कुल 34 लाख रुपये की ठगी किये थे।उसके बाद से आरोपियों ने प्रार्थिया से संपर्क तोड़ लिया था, प्रार्थीया अपने बच्चों मेडिकल कॉलेज में दाखिला के लिए आरोपियों से संपर्क करने का बहुत प्रयास किया परंतु आरोपीगणो ने अपने मोबाइल नंबर बंद कर लिए और अंडर ग्राउंड हो गए थे प्रार्थिया शिखा दास उसके बाद मेडिकल कॉलेज बेंगलुरु जाकर पता किया जहां यह ज्ञात हुआ कि उक्त नाम के व्यक्तियों से कॉलेज का कोई संबंध नहीं है तथा प्रार्थी के बच्चों का कॉलेज में दाखिला प्रक्रियाधीन नहीं है शिखा दास ने जनवरी 2020 में थाना पखांजूर में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। आरोपियों को गिरफ्तारी उपरांत माननीय न्यायालय पखांजूर में पेश कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल दाखिल कराया गया है। थाना पखांजूर की कार्यवाही।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close