Breaking

32वें राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह के समापन कार्यक्रम आयोजित, दुपहिया वाहन चलाते समय हेलमेट का उपयोग अनिवार्य रूप से करें- विनित खन्ना

आशीष परिहार कांकेर- 32वाॅ राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह 18 जनवरी से 17 फरवरी तक चलाया गया, जिसमें सड़क दुर्घटना से बचाव के लिए जागरूकता अभियान जिले के सभी विकासखण्डों में चलाया गया। जिसका समापन पुराना कम्युनिटी हाॅल में किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पुलिस महानिरीक्षक विनित खन्ना ने संबोधित करते हुए कहा कि अपनी सुरक्षा से ही दूसरे का सुरक्षा करना है सड़क पर दुपहिया वाहन चलाते समय अनिवार्य रूप से हेलमेट का उपयोग करें, जिससे दुर्घटना न हो। हमें सदैव सुरक्षा के साथ ही गाड़ी चलाना चाहिए। सीट बेल्ट का उपयोग अनिवार्य रूप से करना चाहिए, गाड़ी चलाते समय मोबाईल से बात न करें। यातायात नियम का हमेशा पालन करें, जिससे दुर्घटना कभी नहीं होगी और न ही जान माल की हानि होगी। श्री खन्ना ने कहा कि कार्यक्रम में स्कूली छात्र-छात्राओं द्वारा यातायात नियम का पालन कराने के लिए नुक्कड़ नाटक के माध्यम से जागरूकता किया गया। हम सब यातायात नियम का पालन अनिवार्य रूप से करें ताकि दुर्घटना से बच सकें।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कलेक्टर चन्दन कुमार ने कहा कि लोगों को अपनी सुरक्षा के लिए यातायात नियम का पालन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि छोटी-छोटी सावधानियां से ही दुर्घटना से बचा जा सकता है, कई लोग हमेशा दूसरों पर निर्भर रहते हैं, गाड़ी हमेशा सावधानीपूर्वक चलायें और व्यवहार में परिवर्तन लायें, जिससे दुर्घटना नहीं होगी। साथ ही लोगों को अपने लक्ष्य तक पहुंचने के लिए आसान होगा। पुलिस विभाग के माध्यम से लोगों को सड़क सुरक्षा नियम का पालन करने के लिए जागरूकता अभियान चलाया गया, जिसका पालन अवश्य करें।
पुलिस अधीक्षक एमआर अहिरे ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि सड़क सुरक्षा सप्ताह मनाया जाता था, उसे बढ़ाकर अब सड़क सुरक्षा माह के रूप में मनाया जा रहा है। इसका मुख्य उद्देश्य लोगों को नशा कर गाड़ी नहीं चलाने की सलाह दी जाती है और गाड़ी चलाने के लिए अनिवार्य रूप से लाईसेंस बनाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि दुर्घटना एक गंभीर समस्या है, इसकी रोकथाम के लिए प्रतिवर्ष सड़क सुरक्षा अभियान चलाकर लोगों को यातायात नियम का पालन कराने के लिए जागरूकता किया जा रहा है। शिक्षित बने जागरूक रहें, तभी दुर्घटना से बचा जा सकता है। श्री अहिरे ने कहा कि हमेशा यातायात नियमों के संकेतों का अवश्य पालन करें, जिससे दुर्घटना से बचें और दूसरों को भी दुर्घटना से बचायें। उन्होंने कहा कि लोगों की हमेशा मदद करना चाहिए, लोगों की सोच है कि दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को अस्पताल पहुंचाने पर पुलिस परेशान करती है, इसलिए लोग दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को अस्पताल नहीं पहुंचाते हैं, ऐसा कुछ भी नहीं है, लोगों को मानसिकता बदलने की जरूरत है। 32वाॅ यातायात सड़क सुरक्षा माह के तहत निबंध, रंगोली, चित्रकला के प्रतियोगिता के विजेताओं और कार्यक्रम में नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत करने वाले प्रतिभागियों को स्मृति चिन्ह एवं प्रशस्ति पत्र प्रदाय किया गया।कार्यक्रम को जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डाॅ. संजय कन्नौजे ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में रेडक्रास, स्काउट-गाईड और राष्ट्रीय सेवा योजना के बच्चों द्वारा नुक्कड़ नाटक के माध्यम से यातायात नियमों का पालन कराने के लिए जागरूक किया गया। कार्यक्रम का सफल संचालन व्याख्याता सुरेश चन्द्र श्रीवास्तव ने किया। छत्तीसगढ़ चेंबर आफ कामर्स इंडस्ट्रीज प्रदेश उपाध्यक्ष हरनेक सिंह औजला, चेंबर आफ कामर्स के अध्यक्ष दिलीप खटवानी, समाज सेवी अजय पप्पू मोटवानी, गफ्फार मेमन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जीएन बघेल, डीएसपी अमृत कुजूर, डिप्टी कलेक्टर डाॅ. कल्पना धु्व, एसडीओ पुलिस अमोलक सिंह ढिल्लो, रक्षित निरीक्षक मोहसीन खान, यातायात प्रभारी रोशन कौशिक सहित राष्ट्रीय सेवा योजना, रेडक्रास, स्काउट-गाईड के पदाधिकारी, यातायात वालिंटयर्स एवं पत्रकारगण उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close