Breaking

उम्र है महज 5 साल, पहली कक्षा में कर रहा पढ़ाई, नाम है योगांश, इन दिनों क्षेत्र में अपनी कला का जादू बिखेर रहा

मनीराम सिन्हा नरहरपुर- कहावत है कला किसी वर्ग, जाति, क्षेत्र या फिर उम्र की मोहताज नहीं होती। कहते हैं ना पूत के पांव पालने में ही दिख जाते हैं। जी हां हम बात कर रहे एक ऐसे बालक की जिसकी उम्र महज 5 साल है और वह अभी पहली कक्षा में पढ़ाई कर रहा है। नाम है योगांश सिन्हा जो नगर के वार्ड क्रमांक 11 निवासी चंद्रहास सिन्हा शिक्षक माध्यमिक शाला बिरनपुर में पदस्थ एवं मीना सिन्हा के पुत्र है। जो इन दिनों अपनी कला से सभी को प्रभावित कर रहा है।

जो इन दिनों रामायण मंडलियों में प्रवचनकर्ता के रूप में देखा जा रहा है। नन्हा बालक राम कथा परोसते हुए नरहरपुर के वार्ड इमली पारा के सुप्रसिद्ध मानस व्याख्यान आशाराम जुर्री के मंडली संग अपनी कला को प्रस्तुत करते अकसर देखे जाते हैं।पूर्व में सोशल मीडिया में इनका वीडियो वायरल हुआ जिसमें इनके द्वारा रामायण का व्याख्यान किया गया था। बच्चों के प्रारम्भिक संस्कार, माता पिता व विद्यालय का वातावरण बहुत आवश्यक रहता है, महज पांच वर्ष की उम्र में अपनी कला बिखेर रहे बालक के पिता रामायण मण्डली कार्यक्रम में उद्घोषक हैं, निश्चित ही इसका विशेष प्रभाव है। उभरते इस नन्हें कलाकार को उनकी कला को आगे बढ़ाने के लिए आज लगातार समर्थन की आवश्यकता है। रामचरित मानस का पाठ व उसके अर्थ को जनमानस के सामने परोसने का कार्य कर रहे इस बालक को सोशल मीडिया में ढेर सारी बधाईयाँ एवं शुभकामनाएँ मिल रही है। प्रसिद्ध भजन गायक व टीकाकार आशा राम जुर्री के साथ उभरते हुए कलाकार 5 वर्षीय बालक योगांश की कला पूरे छत्तीसगढ़ में विशेष रूप से पहचान बनेगी, इसी आशा के साथ DKPNEWS24 द्वारा मंगल एवं उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए बहुत बहुत बधाई शुभकामनायें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close